Prajapati Samaj Hostel in kota – कोटा में प्रजापति समाज का छात्रावास

0
1304
प्रजाापति छात्रावास का भवन।

कोटा शहर के दादाबाड़ी छोटा चौराहा पर हाडौती संभाग का पहला छात्रावास बना हुआ है। शिक्षा नगरी कोटा का यह छात्रावास यहाँ पढ़ने वाले छात्रछात्राओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इस छात्रावास के निकट कई उच्च शिक्षण संस्थान है। जिससे छात्र इसमें रहते हुए आसानी से शिक्षण संस्थाओं में आ जा सकता है।

शिक्षा नगरी कोटा का यह छात्रावास लोगों के मन में शिक्षा के प्रति आत्म विश्वास पैदा कर रहा है। दुनिया तेज गति से बदल रही है। प्रतिस्पर्धा की दौड़ में अब यह समाज किसी से पीछे नहीं है। समाज के हर तबके के लोग हर प्रकार की शिक्षा व रोजगार से जुड़े हुए है।

प्रजापति समाज का यह छात्रावास निरतंर अपने स्वरूप को बदलता जा रहा है। वर्तमान में इसके सभा भवन के निर्माण का कार्य चल रहा है। जिसमें वर्तमान कार्यकारिणी पूर्ण रूप से इसके विकास में संलग्न है। शीघ्र ही यह एक नये स्वरूप में आपके सामने होगा।

कैसे हुआ इस छात्रावास का निर्माण?

सन‌् 1988 में युवा पीढ़ी ने प्रजापति छात्रावास निर्माण का संकल्प लिया। गावों से शहरों में पढ़ाई करने आने वाले छात्रों की सुविधा हेतु कोटा महानगर में प्रजापति छात्रावास के निर्माण का संकल्प लिया।

हाडौती प्रजापति समाज सुधारक संघ कोटा के सर्वश्री अध्यक्ष छीतर लाल घोड़ेला, मुख्य महामंत्री नन्दलाल प्रजापति, छोटे लाल खाती, भगवान रेनवाल, बंशीधर मिथारिया, कजोड़ नगरिया आदि प्रतिनिध के रूप में नगर विकास न्यास के सचिव से मिले और छात्रावास निर्माण के लिए भूखण्ड आवंटित करने की मांग की।

नियमानुसार प्रार्थना पत्र के साथ 5000/- का चैक भी सौंप दिया। लेकिन काफी प्रयत्नों के बाद भी भूखण्ड आवंटित नहीं हुआ। सन् 1990 में माननीय भैरोंसिंह शेखावत के नेतृत्व में जब बीजेपी की सरकार बनी और श्री हिरकृष्ण जोशी न्यास के अध्यक्ष बने तब जाकर हाडौती प्रजापति समाज सुधारक संघ कोटा के नाम पर दादाबाड़ी छोटा चौराहा पर भूखण्ड आवंटित हुआ। जिसमें नन्दलाल प्रजापति व नगर विकास न्यास के ट्रस्टी जगदीश प्रजापति का विशेष योगदान रहा।

छात्रावास निर्माण के लिए बनाई कार्यकारिणी

छात्रावास के लिए भूखण्ड आवंटित होने के बाद इसके निर्माण का निर्णय लिया गया। जिसके लिए छात्रावास निर्माण समिति का गठन किया गया। जिसमें लाड़ली लाल चौकनीवाल को अध्यक्ष, नन्दलाल प्रजापति को मुख्य महामंत्री, छोटू लाल खाती, बंशीधर मिथारिया को उपाध्यक्ष, जगन्नाथ अध्यापक, घनश्याम मारवाल को मंत्री बनाया गया।

बिरधीचन्द प्रजापति को कोषाध्यक्ष तथा किशन लाल सिरोठा को सह-कोषाध्यक्ष बनाया गया। इसी क्रम में पांच सदस्यों का संरक्षण मण्डल बनाया गया। जिसमें जगदीश प्रजापति, विजयलाल प्रजापति सरपंच सूतड़ा, फूलवंद कुमार करोड़ीवाल, बाबूलाल मेवाड़ा ठेकेदार, जमनालाल रसानिया शामिल है।

छात्रावास निर्माण प्रारंभ करने के लिए 30 नवंबर 1992 को भूमि पूजन किया गया। जिसमें जगदीश प्रजापति, ग्यारसीराम प्रजापति निमोदा के कर कमलों द्वारा शिलान्यास किया गया। इसी के साथ जोर शोर से निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया गया।

निर्माण समिति के कार्यकर्ता सर्व श्री लाड़ली लाल चौकनीवाल, नन्दलाल प्रजापति, छीतरलाल घोड़ेला, बंशीधर मिथारिया, जगन्नाथ अध्यापक, छोटू लाल खाती, किशन लाल सिरोठा, नन्दकिशोर बियाना, भगवान लाल रेनवाल, मूलचन्द मिस्त्री, बाबूलाल मेवाड़ा ठेकेदार, कजोड़ लाल नगरिया, सूरजमल कटारिया, रामकरण इंजिनियर, श्याम बाबू सिरोठा आदि ने गाँव-गाँव, ढाणी-ढाणी जाकर लोगों से सहयोग राशि एकत्रित की। इस सहयोग राशि से आवंटित भूखण्ड पर 10 कमरों का निर्माण करवाया गया। साथ ही लेट-बाथ बनाये गए और भूखण्ड के चारों और बाउण्ड्रीवाल का निर्माण करवाया गया।

4 अप्रैल 1999 को हुआ छात्रावास का उदघाटन

छात्रावास भवन बनने के बाद 4 अप्रैल 1999 को उदघाटन समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें भाजपा प्रदेशाध्यक्ष रघुवीर सिंह कौशल, पद्मश्री मूर्तिकार अुर्जन प्रजापति, जयपुर के समाजसेवी पाँचूराम वर्मा के सानिध्य में हजारों समाजबंधुओं की उपस्थिति में छात्रावास का उदघाटन किया गया।

छात्रावास के प्रथम अधीक्षक के रूप में एयर फोर्स से सेवानिवृत्त प्रहलाद मोरवाल को ध्वनिमत से नियुक्त किया गया। तब से लेकर अभी तक निस्वार्थ भाव से छात्रावास में अधीक्षक का दायित्व निभाने के साथ-साथ वहाँ रह रहे छात्रों की सेवा कर रहें।

हाडौती प्रजापति समाज सुधारक संघ के 7 फरवरी 2001 को चुनाव हुए। जिसमें बाबूलाल रेनवाल को अध्यक्ष तथा प्रहलाद मोरवाल को महामंत्री चुना गया। जिन्होंने अपने कार्यकाल में समाज के लिए कार्य किया।

हाड़ौती प्रजापति समाज सुधारक संघ के 26 मई 2002 में पुन: चुनाव हुए जिसमें विजय लाल प्रजापति पूर्व सरपंच सूतड़ा वाले को अध्यक्ष तथा मोती लाल प्रजापति को महामंत्री बनाया गया। वार्षिक चुनावों की श्रृंखला में वर्ष 2009 में पुन: चुनाव हुए। जिसमें ओम प्रजापति बजरंग दल संयोजक चित्तौड़ प्रान्त अध्यक्ष तथा जोधराज उदयवाल महामंत्री बने।
जिनकी कार्यकारिणी का 14 मार्च 2010 को शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया। जिसमें भाजपा विधायक ओम बिड़ला व थर्मल के मुख्य अभियंता त्रिभुवन रसानिया ने अध्यक्षता की।

समारोह में विशिष्ठ अतिथि अखिल भारतीय प्रजापति कुंभकार महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री नन्दलाल प्रजापति, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुरली मनोहर प्रजापति, राष्ट्रीय प्रजापति महासभा के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल रेनवाल थे। इसी कार्यक्रम में छात्रावास के नवनिर्मित हॉल का भी उद्घाटन किया गया।

छात्रावास अधीक्षक प्रहलाद मोरवाल की देखरेख में समाज के सहयोग से दूसरे चरण में निर्माण कार्य किया गया। जिसमें 11 कमरे, 3 लेट बाथ का निर्माण करवाया गया। प्रजापति छात्रावास में राजस्थान तथा दूर दराज के लगभग 45 छात्र न्यूनतम शुल्क पर उच्च शिक्षा प्राप्त करने हेतु रह रहें है।

जानकारी जुटाने में हमारे सहयोगी :-

नन्दलाल प्रजापति (सारड़ीवाल)
पूर्व पार्षद, नगर निगम कोटा
राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, अखिल भारतीय प्रजापति कुंभकार महासंघ, नई दिल्ली मुंबई

इसकी अन्य जानकारी शीघ्र ही अपडेट की जाएगी।