प्रभारी अधिकारियों के साथ जिला कलेक्टर ने ली बैठक, घर-घर सर्वे कार्य को गंभीरता से लेने की बात कही

शादी में 50 से अधिक व्यक्ति पाए गए तो जुर्माने के साथ होगा मुकदमा दर्ज

0
182

प्रजापति मंथन :झालावाड़ (राज.) कोविड-19 के अन्तर्गत विभिन्न व्यवस्थाओं के लिए नियुक्त प्रभारी अधिकारियों के साथ गुरूवार को मिनी सचिवालय के सभागार में जिला कलक्टर हरि मोहन मीना की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना संक्रमण जिले में बहुत तीव्र गति से फैल रहा है उस पर काबू पाने के लिए उपखण्ड अधिकारी राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की सख्ती से पालना करवाया जाना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहे कोविड-19 महामारी के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए मरीजों के चिन्हीकरण एवं इलाज के लिए कराए जा रहे घर-घर सर्वे को और सुदृढ़ करना होगा।

उन्होंने सभी उपखण्ड अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे इस महामारी भयावहता को देखते हुए मरीजों के चिन्हीकरण एवं इलाज के लिए चलाए जा रहे डोर टू डोर सर्वे को गंभीरता से लें। व्यक्ति में कोविड के लक्षण खांसी, जुकाम, बुखार, बदन दर्द का पता चलते ही उसे घर पर ही आइसोलेशन में रहने हेतु पाबंद किया जाए तथा दवाइयों का किट उपलब्ध करवाया जाए। उसका इलाज चिकित्सकीय परामर्श से किया जाए ताकि ऐसे मरीज स्वस्थ लोगों में संक्रमण न फैला सकें। मरीज गंभीर हो तो उसे नजदीक के सीएचसी पर दिखाएं। अनावश्यक मरीज को जिला अस्पताल के लिए रैफर नहीं किया जाए। जहां तक संभव हो उसका इलाज स्थानीय स्तर पर सीएचसी के चिकित्सकों द्वारा किया जाए।

उन्होंने कहा कि संबंधित बीएलओ, शिक्षक, पटवारी, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा सहयोगिनी द्वारा किए जा रहे घर-घर सर्वे में ग्राम सेवक सहयोग करें तथा इसकी मॉनिटरिंग उपखण्ड अधिकारी, विकास अधिकारी तथा ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी की टीम द्वारा की जाए। उन्होंने कहा कि 5 दिवस में सर्वे कार्य पूर्ण करवाना सुनिश्चित करें।
जिला कलक्टर ने कहा कि श्री राजेन्द्र सार्वजनिक चिकित्सालय में भर्ती मरीजों की प्रतिदिन दो बार समीक्षा कर जो मरीज ठीक हो गए हैं या उनमें सामान्य लक्षण हैं तो उन्हें कोविड केयर सेन्टर में शिफ्ट किया जाए ताकि गंभीर रोगियों के लिए अस्पताल में बेड्स उपलब्ध हो सकें।

शादी में 50 से अधिक व्यक्ति पाए गए तो जुर्माने के साथ होगा मुकदमा दर्ज

पुलिस अधीक्षक डॉ. किरन कंग सिद्धू ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शादी समारोह के लिए जारी दिशा-निर्देशों की सख्ती से पालना करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि जिले में कहीं भी शादी समारोह में 50 से अधिक लोगों की संख्या पाई जाती है तो संबंधित आयोजक से न सिर्फ जुर्माना वसूला जाएगा बल्कि उसके खिलाफ राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 तथा आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत मुकदमा भी दर्ज किया जाएगा।

कोविड-19 के संबंध में कोविड वार रूम के दूरभाष पर करें पूछताछ

श्री राजेन्द्र सार्वजनिक चिकित्सालय झालावाड़ के अधीक्षक डॉ. संजय पोरवाल ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण से ग्रसित मरीज एवं उनके परिजन अगर इस महामारी के संबंध में कोई भी चिकित्सकीय सलाह या पूछताछ करना चाहते हैं तो वे एसआरजी चिकित्सालय स्थित कोविड वार रूम के दूरभाष नम्बर 07432-233279 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर दाताराम, जिला परिषद् के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामजीवन मीणा, उपखण्ड अधिकारी झालावाड़ मुहम्मद जुनैद, नगर परिषद् आयुक्त कमलेश कुमार मीना, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. साजिद खान, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक महेश चन्द गुप्ता, कृषि विभाग केउपनिदेशक के.सी. मीना, एमडी सीसीबी श्यामलाल मीना, उद्यानिकी एवं वानिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता आई.बी. मौर्य, जिला परिवहन अधिकारी समीर जैन, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक गौरीशंकर मीना उपस्थित रहे।