रक्तदान शिविर में 487 ब्लड यूनिट हुआ रक्तदान, प्लाज्मा डोनर्स का किया सम्मान

रक्तवीर युवा टीम संस्थापक एवं राष्ट्रीय प्रजापति महासंघ के युवा प्रदेश महासचिव के जन्मदिन पर लगा विशाल ऐतिहासिक रक्तदान शिविर

0
199

प्रजापति मंथन : कोटा
रक्तवीर युवा टीम के तत्वाधान में कोरोना महामारी के बीच रक्तकी कमी को पूरा करने के लिए विनोबा भावे नगर में 27 नवंबर को रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। टीम के संस्थापक अंकित प्रजापति ने बताया कि सभी के सहयोग से जरूरतमंद एवं असहाय व्यक्तियों के लिए रक्तदान शिविर में 487 यूनिट रक्तएकत्रित हुआ। मेडिकल कॉलेज ब्लड बैंक, कृष्णा रोटरी ब्लड बैंक के द्वारा रक्तका संग्रहण किया गया। साथ ही प्लाज्मा डोनर्स ओम प्रकाश नामा, कपिल अग्रवाल, जयेश गुप्ता, सुभांक सक्सेना, भरत बिरला इत्यादि का भी सम्मान किया गया।

रक्तवीर युवा टीम के द्वारा इस कोरोना महामारी के बीच मोबाइल ब्लड वेन के माध्यम से भी अभी तक 25 से 30 लघु रक्तदान शिविर लगाए जा चुके हैं तथा कोरोना से पीडि़त मरीजों के लिए 30 से 40 प्लाज्मा डोनेशन भी रक्तवीर युवा टीम के प्लाज्मा डोनेशन अभियान के अंतर्गत कराए जा चुके हैं। कोटा के साथ-साथ रक्तवीर युवा टीम के 2 सदस्य जयपुर के एसएमएस ब्लड बैंक में भी कोरोना से पीडि़त मरीज के लिए प्लाज्मा डोनेट कर चुके हैं।

रक्त वीर युवा टीम ने इस कोरोना महामारी के बीच कोटा के ब्लड बैंक के अलावा बारां, झालावाड़ एवं जयपुर के ब्लड बैंक में भी शिविर के माध्यम से रक्त पहुंचाया है। रक्तदान शिविर में पूर्व पीसीसी सचिव शिवकांत नंदवाना, मेडिकल कॉलेज अधीक्षक डॉक्टर चंद्रशेखर सुशील, सुरेश प्रजापत भाणा, वार्ड पार्षद रामदेव वर्मा, देवेश तिवारी, लेखराज योगी, सोनू धाकड़, कुलदीप गौतम, सरपंच निरंजन मीणा, बृजराज मीणा, राजकुमार उदयवाल, नंदलाल प्रजापति, दुर्गाप्रसाद प्रजापति इत्यादि ने रक्तदान शिविर में रक्तदाताओं का हौसला बढ़ाया एवं प्लाज्मा डोनर्स का सम्मान किया।

रक्तदान शिविर प्रात: 9:00 बजे से प्रारंभ होकर साय: 8:00 बजे तक चला। रक्तदान शिविर में युवा, महिलाएं सभी ने रक्तदान किया, कई युवाओं ने पहली बार तो कई युवाओं ने तीसवी से अधिक बार ब्लड डोनेट किया। शिविर में कोटा जिले के अलावा बारां, बूंदी, झालावाड़, सवाईमाधोपुर एवं मथुरा से भी रक्तदाता रक्तदान करने पहुंचे। रक्तवीर युवा टीम की समस्त कार्यकारणी एवं समस्त साथियों के सहयोग से विशाल रक्तदान शिविर संपन्न हुआ।

“”अगर आप एक बार रक्तदान करते हो,तो आप के द्वारा किया गया रक्तदान किसी तीन अन्य व्यक्तियों की जिंदगी बचाने के लिए जीवनदायिनी के रूप में काम आता है। वर्तमान समय में कोटा में रक्त की कमी के चलते हैं थेलेसिमिक एवं डायलिसिस से पीडि़त लोगों के लिए रक्त की अत्यंत आवश्यकता है, इसको देखते हुए शिविर का आयोजन किया गया।